ताजा खबर
महाप्रबंधक अंजली गोयल ने फ्लैग ऑफ कर रेल सुरक्षा बल रैली को किया रवाना   ||    सतर्कता ही संचारी रोगों से बचाव का बेहतर उपाय- डा. नीलकंठ तिवारी   ||    कुपोषण की रोकथाम के लिए शुरू हुआ ‘सम्भव’ अभियान,30 सितंबर तक चलेगा वृहद जन जागरूकता अभियान   ||    सुश्री अंशिका दीक्षित उप जिलाधिकारी, सदर बनी, पुष्पेंद्र पटेल उप जिलाधिकारी, पिण्डरा बने, राजीव राय ...   ||    विधिक सचिव ने जिला कारागार का किया निरीक्षण, बंदियों की समस्याओं को सुना और निवारण हेतु अधीक्षक जिला...   ||    पीएम मोदी की जनसभा को तैयारियों को लेकर रोहनिया स्थित भाजपा क्षेत्रीय कार्यालय में जनप्रतिनिधियों, क...   ||    पत्रकारों एवं अधिवक्ताओं ने एडिशनल सीपी से मुलाकात की   ||    जिले में गुरुवार को फिर लगेगी ‘पोषण पाठशाला’वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए पाठशाला में मिलेगी शिक्षा   ||    प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) पूर्णतः निःशुल्क है, इसमें किसी भी प्रकार का कोई शुल्क देय नहीं है   ||    आकाशीय बिजली गिरने से मान्धातेश्वर मंदिर के शिखर का कलश हुआ छतिग्रस्त   ||   

शिक्षक ने गंगा में छलांग लगाकर कर ली आत्महत्या।

वाराणसी। राजघाट स्थित मालवीय पुल से रविवार को एक प्राइवेट स्कूल के शिक्षक ने गंगा में छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा की कोतवाली थाना अंतर्गत जतनबर निवासी लक्ष्मीकांत तिवारी का बड़ा बेटा चंद्रकांत तिवारी एक प्राइवेट स्कूल में कंप्यूटर शिक्षक था। रविवार को चंद्रकांत तिवारी अपनी बाइक से मालवीय पुल पर आए और वहीं बाइक खड़ी कर सीधे गंगा में कूद गए

राहगीरों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने बाइक के रजिस्ट्रेशन नंबर की मदद से परिजनों से संपर्क किया। थोड़ी ही देर में चंद्रकांत के पिता लक्ष्मीकांत, छोटा भाई शशिकांत और मां श्रावणी देवी भी मालवीय पुल पर पहुंच गए।

पुलिस द्वारा को गई पूछताछ में पिता लक्ष्मीकांत ने बताया कि लगभग दो साल पहले चंद्रकांत की शादी हुई थी। उसकी दो माह की एक बेटी है। समझ में नहीं आ रहा है कि बेटे ने ऐसा कदम क्यों उठाया कि हमारे बुढ़ापे की राह कठिन हो जाए। हमें तो समझ ही नहीं आ रहा है कि क्या से क्या हो गया।

वहीं स्थानीय गोताखोरों और एनडीआरएफ की 11 बटालियन के जवानों की मदद से चंद्रकांत की खोजबीन शुरू कराई, लेकिन उसका कहीं पता नहीं लगा।

Posted On:Sunday, April 24, 2022


बनारस और देश, दुनियाँ की ताजा ख़बरे हमारे Facebook पर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें,
और Telegram चैनल पर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

You may also like !

मेरा गाँव मेरा देश

अगर आप एक जागृत नागरिक है और अपने आसपास की घटनाओं या अपने क्षेत्र की समस्याओं को हमारे साथ साझा कर अपने गाँव, शहर और देश को और बेहतर बनाना चाहते हैं तो जुड़िए हमसे अपनी रिपोर्ट के जरिए. banarasvocalsteam@gmail.com

Follow us on

Copyright © 2021  |  All Rights Reserved.

Powered By Newsify Network Pvt. Ltd.