ताजा खबर
भाजपा क्षेत्रीय कार्यालय पर अध्यक्ष महेश चंद श्रीवास्तव ने बीते दिन किया ध्वजारोहण   ||    धूम धाम से ग्रामीण क्षेत्रों में मनाया गया आजादी का जश्न, जुलूस के साथ लहराया गया तिरंगा झंडा   ||    तिरंगा सप्ताह का छटवां दिन खिलाड़ियों के नाम रहा   ||    गंगा नदी पर आज निकली तिरंगा यात्रा   ||    आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम के अंतर्गत लाल बहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर नुक्कड़ ...   ||    आप ने अरविंद केजरीवाल के जन्मदिन पर किया पौधारोपण,केक काटकर धूमधाम से मनाया जन्मदिन   ||    गडौली धाम में श्री बालेश्वर महादेव का राष्ट्रीय ध्वज के रंग में श्रृंगार,भक्तों ने देखा कौतूहल भरी न...   ||    क्या मकान के किराए पर लगेगा 18 फीसदी जीएसटी? जानिए पूरी सच्चाई   ||    16 अगस्त 2022: जानिए, प्रेम और पार्टनर के साथ कैसा रहेगा आज का दिन !   ||    शोधकर्ताओं ने बताया, अपने साथी के साथ बैड शेयर करने से नींद की गुणवत्ता और मानसिक स्वास्थ्य में सुधा...   ||   

सतर्कता ही संचारी रोगों से बचाव का बेहतर उपाय- डा. नीलकंठ तिवारी

Posted On:Friday, July 1, 2022



       वाराणसी। जनपद में शुक्रवार को विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान शुरू हुआ। जिला महिला चिकित्सालय-कबीरचौरा में आयोजित समारोह में पूर्व मंत्री व शहर दक्षिणी के विधायक डा. नीलकण्ठ तिवारी ने लोगों को संचारी रोग नियंत्रण के प्रति जागरूक होने के आह्वान के साथ ही रैली को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। इसके साथ ही पूरे जिले के समस्त सामुदायिक, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों व ब्लाक स्तरीय स्वास्थ्य केन्द्रो में कार्यक्रमों का आयोजन कर जागरुकता रैलियां निकाली गयीं।
जिला महिला चिकित्सालय में आयोजित समारोह में विचार व्यक्त करते हुए डा. नीलकण्ठ तिवारी ने कहा कि विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान महज एक अभियान नहीं बल्कि ऐसा अनुष्ठान भी है जो प्रदेश सरकार की ओर से लोगों को संक्रामक बीमारियों से बचाने के लिए किया जा रहा है। लिहाजा अभियान में जन सहभागिता बेहद जरूरी है। साफ-सफाई के प्रति हमारी थोड़ी सी जागरुकता सिर्फ हमें ही नहीं परिवार व समाज को भी गंभीर बीमारियों से बचा सकती है। उन्होंने कहा कि एक समय ऐसा भी था जब जापानी बुखार गोरखपुर और उसके आसपास के क्षेत्रों में बच्चों की जिंदगी को खत्म कर देता था। कालरा, प्लेग, कालाजार जैसी बीमारियों से हर वर्ष काफी संख्या में लोग मरते थे, लेकिन प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के कुशल नेतृत्व की देन है कि आज हम ऐसे खतरनांक रोगों पर विजय प्राप्त कर चुके है। उन्होंने कहा कि अन्य संचारी रोगों खत्म करने के लिए सभी को जागरूक होना बहुत जरूरी है। जागरुकता और सतर्कता ही इन रोगों से बचाव का बेहतर उपाय है।
समारोह में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संदीप चौधरी ने कहा कि संचारी रोग सिर्फ लापरवाही से होता है। गंदे पानी का सेवन, घर के आसपास जल-जमाव जैसी छोटी-छोटी बातों के प्रति यदि हम सजग हो जाए तो बड़े खतरे से बच सकते हैं। उन्होंने कहा कि हम सभी सतर्क रहे। घर के आस-पास गंदे जल का जमाव न होने दे और लोगो को भी इसके प्रति जागरूक करें। संचारी रोग से यदि कोई बीमार होता है तो उसका तत्काल उपचार शुरू कराए। उन्होंने कहा कि संचारी रोगों के खिलाफ अभियान में एक साथ कई  विभागों का सड़क पर उतरना ही अपने आप में महत्वपूर्ण है। सम्बंधित विभागो के लोग घर-घर जायेगे। लोगो को इसके खतरे से अवगत कराने के साथ ही बचाव के लिये भी जागरूक करेंगे। इससे सफलता जरूर मिलेगी। 
      अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (नोडल अधिकारी) डा. एसएस कनौजिया ने कहा कि अभियान में चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम, नगर पंचायत विकास, पंचायती राज, ग्राम्य विकास विभाग, बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग, शिक्षा विभाग, दिव्यांगजन विभाग, कृषि एवं सिचाई विभाग, सूचना और उद्यान विभाग की सहभागिता रहेगी। उन्होंने बताया कि विशेष संचारी रोग नियन्त्रण अभियान 31 जुलाई तक चलेगा। इस दौरान वेक्टर जनित रोग जैसे मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया की रोकथाम के लिए के लिए कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। जिला मलेरिया अधिकारी शरद चंद्र पांडेय ने कहा कि सभी विभागों को जिम्मेदारियां सौंप दी गई है। जहां भी मच्छर पनपने की संभावना होगी। वहां निरोधात्मक कार्रवाई की जाएगी। उन्होने बताया कि 16 जुलाई से दस्तक अभियान भी शुरू होगा, जिसमें स्वास्थ्य कार्यकर्ता घर-घर जाकर इस बारे में लोगों को जागरूक करेंगे।
       कार्यक्रम के प्रारम्भ में अतिथियों का स्वागत नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. एनपी सिंह ने किया साथ ही अभियान के बारे में विस्तार से जानकारी दी। समारोह में संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य के अलावा मण्डलीय चिकित्सालय के एसआईसी डा. हरिचरण सिंह, जिला महिला चिकित्सालय के एसआईसी एके श्रीवास्तव,  सहायक मलेरिया अधिकारी केके राय, यूनिसेफ के क्षेत्रीय समन्वयक प्रदीप विश्कर्मा, यूनीसेफ के डा. शाहिद,शबा, सुषमा व तबरेज समेत स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी,कर्मचारी मौजूद थे। समारोह का संचालन डीएचईआईओ हरिवंश यादव ने किया।


बनारस और देश, दुनियाँ की ताजा ख़बरे हमारे Facebook पर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें,
और Telegram चैनल पर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें



You may also like !

मेरा गाँव मेरा देश

अगर आप एक जागृत नागरिक है और अपने आसपास की घटनाओं या अपने क्षेत्र की समस्याओं को हमारे साथ साझा कर अपने गाँव, शहर और देश को और बेहतर बनाना चाहते हैं तो जुड़िए हमसे अपनी रिपोर्ट के जरिए. banarasvocalsteam@gmail.com

Follow us on

Copyright © 2021  |  All Rights Reserved.

Powered By Newsify Network Pvt. Ltd.